Thursday, 18 April 2019

Difference Between Convex And Concave Mirror in Hindi

What is Difference Between Convex And Concave Mirror in Hindi-:

Difference Between Convex And Concave Mirror


S.No.
उत्तल दर्पण (Convex Mirror)अवतल दर्पण (Concave Mirror)
1

उत्तल दर्पण अनंत से आने वाली किरणों को फैलाता है इसलिए इसे अपसारी दर्पण (Diverging Mirror) कहते हैं।

अवतल दर्पण अनंत से आने वाली किरणों को सिकुड़ता है इसलिए इसे अभिसारी दर्पण (Converging Mirror) कहते है।
2इसलिए इसका m आवर्धन हमेशा 1 से कम होता है।इसलिए इसका m आवर्धन 1 से 1.1 तक हो सकता है।
3इस दर्पण का फोकस आभासी (Virtual) होता है।इस दर्पण का फोकस वास्तविक (Actual) होता है।
4इस दर्पण की फोकस दूरी हमेशा धनात्मक (+) में होती है।इस दर्पण की फोकस दूरी ऋणात्मक (-) में होती है।
5उत्तल दर्पण में प्रतिबिंब हमेशा आभासी और सीधा बनता है इसलिए इसका आवर्धन हमेशा धनात्मक होता है।अवतल दर्पण से वास्तविक प्रतिबिंब के लिए m आवर्धन ऋणात्मक एवं आभासी प्रतिबिंब के लिए धनात्मक होती है।
6उत्तल दर्पण का उपयोग गाड़ी में चालाक की सीट के पीछे का दृश्य को देखने के लिए, सोडियम परावर्तन लैंप में छोटा प्रतिबिंब बनाता है।
Convex Mirror in Hindi
अवतल दर्पण का उपयोग दाढ़ी बनाने में, आँख, कान, नाक के डॉक्टर द्वारा उपयोग में, दातों में, गाड़ी के हेडलाइट में, सोलर कुकर में बड़ा प्रतिबिंब बनाता है।
Concave Mirror in Hindi


Click this link👉 About of Diamond in Science in Hindi

No comments:

Post a Comment

Copyright © 2018 All Rights Reserved Nolimitofstudy