Wednesday, 3 July 2019

What is the RBC and WBC in Blood in Hindi

BLOOD CELLS AND THEIR FUNCTIONS IN HINDI-:

Explain RBC and WBC in Blood

रक्त (BLOOD)-:
(1) रक्त एक तरल संयोजी उत्तक (Connective Tissue) है
(2) ऑक्सीजन का परिवहन हमारे शरीर में रक्त के द्वारा होता है
(3) रक्त का रंग लाल होमो ग्लोबिन (Homo Globin) के कारण होता है
(4) रुधिर प्लाज्मा एवं उस में तैरने वाली रुधिर कोशिकाओं से मिलकर बना है
(5) रुधिर में निर्जीव प्लाज्मा 65% एवं सजीव रुधिर कोशिका 35% होती है।
(6) रक्त का ph मान 7.4 होता है जो क्षारीय विलयन (Alkaline Solution) कहलाता है।
(7) प्लीहा (Spleen) को शरीर का रक्त बैंक (Blood Bank) कहा जाता है
(8) हेपरिन (Heparin) की उपस्थिति के कारण ही रक्त शरीर में जमता नहीं है
(9) रक्त का शुद्धिकरण किडनी (Kidney) में होता हैं, और इस शुद्धिकरण की प्रक्रिया को डायलिसिस (Dialysis) कहते हैं।
(10) मनुष्य के शरीर में 5 से 6 लीटर तक रक्त होता है।
Blood in Human Body


Blood = Plasma (65%) + Cells (35%)
रक्त के कार्य (Works of Blood)-:
(1) शरीर के ताप का नियंत्रण तथा शरीर को रोगों से रक्षा करना।
(2) रक्त का मुख्य कार्य पोषक तत्वो को सभी ऊतको तक पहुंचाना है।
(3) रक्त का थक्का जमाने में मदद करता है।
(4) रक्त सभी हार्मोनो को शरीर के सभी अंगों तक पहुंचाता है।
(5) शरीर के वातावरण को स्थाई बनाए रखना और शरीर के घाव को भरना।
(6) पूरे शरीर में रक्त का परिसंचरण (Circulation of Blood) हृदय करता है।
रक्त में तीन प्रकार की कोशिकाएं पाई जाती है।

1) लाल रुधिर कोशिकाएं [Red Blood Cells : R.B.C]-:


(1) लाल रुधिर कोशिकाओं को एरिथ्रोसाइट के नाम से भी जाना जाता है
(2) एरीथ्रो का अर्थ है “लाल”साइट का अर्थ है “कोशिका”
(3) यह कोशिका डिस्क के आकार की होती है। यह परिधि (periphery) पर मोटा और मध्य में कम मोटा होता है।
(4) RBC में केंद्रक (Nucleusहोता है।
(5) RBC का जीवनकाल 90 to 120 दिन का ही होता है
(6) इनका निर्माण लाल अस्थि मज्जा (Bone Marrow) में होता है।
(7) इनकी मृत्यु यकृत (Liver) और प्लीहा (Spleen) में होती है, इसलिए यकृत और प्लीहा को RBC का कब्र कहा जाता है।

(8) इन में उपस्थित होमो ग्लोबिन नामक लाल वर्णक के कारण ही रक्त लाल होता है।
(9) होमो ग्लोबिन शरीर की हर कोशिकाओं में ऑक्सीजन पहुंचाना तथा कार्बन डाइऑक्साइड को वापस लाने का कार्य करती है।
(10) लाल रक्त कोशिकाओं की लगभग संख्या 4.5  मिलियन से 6 मिलियन प्रति घन मिली मीटर है।

2) श्वेत रुधिर कोशिकाएं [White Blood Cells : W.B.C]-:


(1) श्वेत रुधिर कोशिकाओं को ल्यूकोसाइट के नाम से भी जाना जाता है।
(2) यह अनियमित आकार की होती है और संख्या में यह लाल रुधिर कोशिकाओं की तुलना में बहुत कम होती है।
(3) इनमें केंद्रक (Nucleusनहीं होता है।
(4) इनका जीवन काल 24 से 30 घंटे या 1 से 4 दिन का होता है
(5) इनका निर्माण अस्थि मज्जा (Bone Marrow) में होता है और इनकी मृत्यु खून में ही हो जाती है।
(6) इनका मुख्य कार्य रुधिर परिवहन, मृत पदार्थों को हटाना एवं जीवाणु के विरुद्ध लड़ना
(7) श्वेत रक्त कोशिकाओं की लगभग संख्या 4000 से 10,000 प्रति घन मिली मीटर है।
(8) सबसे बड़ी श्वेत रक्त कोशिका मोनोसाइट होती है जो जीवाणुओं को नष्ट करती है
(9) सबसे छोटी कोशिका लिम्फोसाइट होती है जो एंटीबॉडी के निर्माण में भाग लेती है।
(10) रक्त में RBC एवं WBC की उपस्थिति का अनुपात 600:1 होता है।

3) रक्त बिम्बाणु [Blood Platelets]-:


(1) प्लेटलेट्स को थ्रोम्बोसाइट्स के नाम से भी जाना जाता है।
(2) इसमें केंद्रक (Nucleusनहीं पाया जाता है।
(3) इन का जीवनकाल 7 से 10 दिन का होता है।
(4) इनका निर्माण अस्थि मज्जा (Bone Marrow)में होता है और इनकी मृत्यु प्लीहा (Spleen) में होती है
(5) इसका मुख्य कार्य रक्त का थक्का जमाने (Blood Clotting) में होता है।

Click this link👉 General Science ke 50 Basic Questions in Hindi
Click this link👉 All Vitamins List and their Functions

1 comment:

  1. Its for these reasons it happens to be improved that anyone can helpful test earlier than building. It will be possible to write more piece of writing like this. Trusted Medicine

    ReplyDelete

Featured post

Functional Shortcut Keys in Computer | No Limit Of Study

Copyright © 2018 All Rights Reserved Nolimitofstudy